How to Re-program your mind for wealth.



How to Re-program your mind for wealth.

मान लीजिए आप एक बगीचे में गए हैं जहां पर बहुत सारे पेड़ हैं जिन पर फल लगे हुए हैं।

आप किसी एक पेड़ के पास जाते हैं और उन फलों को देखते हैं।

आपको वह पसंद नहीं आते क्योंकि वह बहुत छोटे हैं और ठीक से पक नहीं पाएं है

आप एक फल को तोड़ कर खाते हैं तो आपको उनका स्वाद बिल्कुल पसंद नहीं आता।

मान लीजिए ये फल वह परिणाम है जो आपको आज तक मिलते आए हैं और अब भी मिल रहे हैं।

आप क्या कर सकते हैं ?

क्या आप फलों पर स्प्रे मारकर उनकी मरम्मत करेंगे?

या फिर, आप पेड़ की जड़ों पर काम को करके अपने पेड़ को बेहतर बनाएंगे?

Unfortunately! अधिकतर लोग Roots पर काम करने की बजाय chemical का spray लगा कर अपने फलों की मरम्मत करने का चुनाव करते हैं।

मेरे दोस्तों, अगर आपके अवचेतन मन में आपकी मासिक आय 20,000 निर्धारित है तो चाहे जो भी कर लें।

कितनी ही भागदौड़ कर ले, कितना ही काम कर ले। लंबे समय तक आप इससे दूर नहीं भाग सकते।

 हो सकता है कि आप एक महीने 30,000 कमा लें। लेकिन आप हमेशा उसी स्तर पर रहेंगे।

आपका अवचेतन मन एक बगीचे के समान है इसमें जैसे बीज बोए जाएंगे यह आपको वैसे ही फल कर देगा।

अगर आप अमीरी के बीज बोते हैं तो आपको अमीरी ही मिलेगी अगर गरीबी के बीज बोते हैं तो गरीबी ही मिलेगी। इसके अलावा कुछ नहीं!

अगर आप अमीर बनना चाहते हैं तो आपको अपने अवचेतन मन को दोबारा प्रोग्राम करना होगा।

आज तक आपके आसपास के लोग (जैसे माता पिता भाई बहन, दोस्त या रिश्तेदार या फिर समाज) आदि, आपकी आपके माइंड को प्रोग्राम करते आए हैं।

अब वक्त आ गया है कि आप अपने माइंड को दोबारा से प्रोग्राम करें जिससे आप वह सारे मनचाहे परिणाम पा सके जिसके आप हकदार हैं।

यहां मैं आपको अमीरी की कुछ मानसिक फाइलें बताऊंगा जो आपके अवचेतन मन को अमीरी बनने के लिए तैयार करेंगी।

 नोट:- सभी मानसिक फाइलें महत्वपूर्ण हैं इन्हें रात को सोते समय और सुबह जागने के बाद पढ़ना आवश्यक है। इन्हें बार-बार दोहराए। ताकि आपका अवचेतन मन तक पहुंच जाएं और आपका अवचेतन मन इस पर काम कर सके।


Mental file#1:-
Poor people believe money is negative. 
Rich people believe money is positive.

गरीब लोग अक्सर यह कहते हुए मिलते हैं कि पैसा ही सारी बुराई की जड़ है।

 पैसा इंसान को बुरा बना देता है।

 देखिए यह बस एक विश्वास है जो अज्ञानता के कारण पीढ़ी दर पीढ़ी चलकर आपके पास आया है।

“पैसा इंसान को अच्छा या बुरा नहीं बनाता पैसा बस एक माध्यम है जो आपकी को क्रियाओं को गति प्रदान करता है। ”

अगर आप दयालु हैं, विनम्र हैं तो पैसा आने पर आप अधिक दयालु और विनम्र बन जाएंगे।

इसके विपरीत आप द्वेषपूर्ण और दुष्ट प्रकृति के इंसान हैं तो पैसा आने पर आपकी दुष्टता बढ़ जाएगी।

एक बार फिर पैसा बस एक माध्यम है जो आपकी क्रियाओं को गति प्रदान करता है।

file #1- 


• मैं पैसों के बारे में सकारात्मक सोच रखता हूं।

• मेरा लक्ष्य अमीर बनना है



Mental file#2:- Poor people think small. Rich people think big.

छोटी सोच और छोटे काम दिवालियेपन की ओर ले जाते हैं।
बड़ी सोच और बड़े काम दौलत की ओर ले जाते हैं।

अमीरों का एक नियम है:-

“आप लोगों के जीवन में इतनी वैल्यू ऐड करेंगे, आप उतने अधिक दौलतमंद बनते जाएंगे।”

 गरीब लोग सोचते हैं मैं ऐसा नहीं कर सकता।

 मेरे पास इतना टाइम ही नहीं है कि मैं उन लोगों की जीवन को बेहतर बनाने में योगदान दे सकूं।

 मेरी तो फैमिली प्रॉब्लम्स हैं अगर मैंने यह सब किया तो मेरे परिवार की भूखे मरने की नौबत आ जाएगी।

वह योगदान देने से दूर भागते हैं, और पैसा उनसे दूर भागता है।

चार्ट में देखकर बताइए कि किस टीचर की आमदनी अधिक होगी।

जाहिर है, सुरेश की आमदनी सबसे अधिक होगी क्योंकि वह अधिक लोगों के जीवन में वैल्यू जोड़ रहा है।

 अमीर लोग ego based thinking को ignore कर society की problems को हल करने में जुट जाते हैं ।

परिणामस्वरुप, वह अधिक सफल और अमीर बनते जाते हैं।
                           

file #2.

• मैं बड़ा सोचता हूं।

• मैं अधिक से अधिक लोगों की जिंदगी में वैल्यू ऐड करने  का चुनाव करता हूं। 


• मैं समाज में उपस्थित समस्याओं को हल करने के प्रति समर्पित हूं। 


• मेरा लक्ष्य अमीर बनना है।




Mental file #3:-
Poor people does not believe in self development.
Rich people believe they are the secret  to getting rich.

अब मैं आपको अंग्रेजी भाषा के 3 सबसे खतरनाक शब्द बताने वाला हूं!

वे शब्द है- “I know that” (मैं जानता हूं।)

यह असफल लोगों के आम शब्दों में से एक है। अगर असफल लोग सारी चीजें जानते हैं तो वह अमीर बनना क्यों नहीं सीख पाए?

अमीर लोग विश्वास करते हैं कि अगर वह उतने सफल नहीं है जितना कि वह बनना चाहते हैं तो ऐसी कोई चीज़ जरूर है जिसके बारे में वे नहीं जानते।

वह अपनी आंतरिक क्षमता (Inner strength) बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित करते हैं।

अगर आपको वकील या इंजीनियर बनना है तो कॉलेज जाइए।

अगर आपको बनना है तो उन लोगों से सीखिए जो मिलियन बिलियन बन चुके हैं।

brian tracy कहते हैं धन का सबसे बड़ा एकमात्र स्रोत आपके कानों के बीच में है”।

इंतजार क्यों कर रहे हैं?

जाइए और अपनी सelf development पर ध्यान दीजिए।
सीखिए! अमीर लोग किस तरह सोचते और काम करते हैं जिस कारण उन्हें इतनी अद्भुत परिणाम मिलते हैं।

 आप seminars, workshop, courses attend कर सकते हैं। या आप किताबें खरीदकर पढ़ सकते हैं।

और अगर आप सचमुच अमीर बनना चाहते हैं तो जितना हो सकता है अमीर लोगों के बारे में पढ़िए।

file #3.

• मैं आत्मविकास को अमीरी का रहस्य मानता हूं।

• मैं अमीर और सफल लोगों से सीखता हूं।


• मेरा लक्ष्य अमीर बनना है।



Mental file #4:-Rich people admire rich and others successful people.
Poor people resent rich & successful people.

गरीब और असफल लोग दूसरों की कामयाबी पर जलते हैं।

या फिर वे यह कहते दिखाई पड़ते हैं कि “वह खुशकिस्मत है” काश! मेरी भी तो किस्मत चमक जाए और मैं अमीर बन जाऊं।

याद रखिए अगर आप अपने मन में अमीरों को किसी भी प्रकार से बुरा मानते हैं तो आप कभी अमीर नहीं बन पाएंगे।

असंभव! आप ऐसे व्यक्ति कैसे बन सकते हैं जिससे आप नफरत करते हैं।

 अमीर लोग दूसरे अमीर लोगों की प्रशंसा करते हैं उन्हें अच्छी नजरों से देखते हैं। उनसे प्यार करते हैं।

अगर अब आप किसी अमीर व्यक्ति के घर के पास से निकलें तो उनके घर की तारीफ करें।

खुद से कहें वाह! कितना सुंदर  घर है! मैं भी ऐसे ही घर का मालिक बनूंगा।

यह बात आपके अवचेतन मन में उतर जाएगी और इस बात को साकार करने में लग जाएगी कि आप भी भविष्य में ऐसा ही घर खरीदें।

खुद से कहें मैं भी इन्हीं लोगों में से एक बनने जा रहा हूं।
मैं अमीर बनने जा रहा हूं।

 file #4.

• मैं अमीर और सफल लोगों की तारीफ करता हूं। 


• मेरा लक्ष्य अमीर बनना है।




Mental file #5:- Rich people associate with positive and successful people.
Poor people associate with negative and unsuccessful people.

हमारा ब्रेन (brain) comfortable रहना पसंद करता है।

मान लीजिए आप एक पार्टी में गए हैं, वहां आपको आपसे ज्यादा स्मार्ट लोग मिलते हैं।

 क्या होता है?

आप उनके साथ असहज महसूस करते हैं।

आप जल्द से जल्द अपने जैसे लोगों को ढूंढते हैं।

क्यों?

यह मनुष्य का comfortzone है, जो उसे उसी स्तर पर रखता है जहां वह अब है।

यही कारण है,

 गरीब गरीबों का साथ चाहते हैं।

Middle-class अपने जैसे लोगों का साथ चाहते हैं।

और अमीर, अमीर लोगों का साथ चाहते हैं।

अगर आप सचमुच अमीर बनने के इच्छुक हैं तो अपने से ऊंचे स्तर के लोगों के साथ उठना बैठना शुरू कीजिए।

अगर आप बाजों के साथ उड़ना चाहते हैं तो आपको बता को का साथ छोड़ना पड़ेगा।

अमीर लोग सिर्फ अमीर और सफल लोगों के साथ रहना पसंद करते हैं और इससे भी बड़ी बात यह वह नकारात्मक लोगों से दूर रहते हैं।


file #5.

 • मैं अमीर लोगों का साथ पसंद करता हूं।

 • मैं अमीर लोगों को अपना रोल मॉडल मानता हूं


 • मैं उन्हीं के साथ अपना ज्यादातर समय बिताता हूं।

 • मेरा लक्ष्य अमीर बनना है।
    

Comments