How to Overcome fear – डर को कैसे दूर करें।


डर :- एक नकारात्मक भावना जो इंसान के दिमाग पर हावी हो कर हमारी प्रोडक्टिविटी को कम कर देती है।

क्या डर का होना आम बात है?
क्या हम डर को लेकर हम कुछ कर सकते हैं?
क्या हम डर को जीत सकते हैं, और वे भी हमेशा के लिए?

जवाब है:- हां, ऐसा बिल्कुल संभव है कि आप अपने डर को जीत सकते हैं! आप एक  रोमांचक, चुनौतीपूर्ण और अद्भुत जीवन जी सकते हैं!

तो अब मैं क्या करूं? जवाब आसान है:- आप डर को जीतने के लिए आप कुछ अद्भुत चमत्कारी तरीके अपना सकते हैं।

नीचे ऐसे ही कुछ अद्भुत बारे में बताया है।सभी प्रैक्टिकल हैं, और 100 गुना तेजी से जीवन में प्रभाव डालते हैं।

#1:- Face the Fear.

Fight with fear

famous speaker Dale Carnegie ने कहा था - डर को जीतने का सिर्फ एक ही रास्ता है जो आज तक पाया गया है, डर के आने पर उसका सामना करना।”

द्वितीय विश्व युद्ध (Second World War) के समय नेवी ने डिसाइड किया कि उनके सभी नए Recruits को तैरना आना चाहिए।

जब उन्हें 6 फीट ऊंचाई से 8 फीट गहरे पानी में  कूदने के लिए कहा गया तो सारे Recruits बहुत डरे हुए थे।

वे डर से कांप रहे थे!

तब, नेवी के एक आदमी को उन्हें ऊपर से पानी में धक्का देने के लिए कहा गया!

जैसे ही वह सब पानी में कूदे उनका सारा डर गायब होने लगा और अगली बार वह बिना किसी के धक्का दिए पानी में कूदे और तैरना सीखा।

इससे क्या साबित होता है?

जब भी आपको डर लगे उससे डरने की बजाय उसका “सामना” कीजिए।

लोगों के सामने भाषण देने से  डर लगता है?
 जाइए लोगों के सामने आकर भाषण दीजिए।

एग्जाम्स में फेल होने से डर लग रहा है?
चिंता छोड़कर, परीक्षा की तैयारी में लग जाइए।

“गर्लफ्रेंड को प्रपोज़ करने में डर लग रहा है?”
 जाइये और जाकर उसको बोल दीजिए।

कोई निर्णय लेने से डर रहे हैं कि दूसरे लोग क्या सोचेंगे?

 यह देखिए, कि आप जो कर रहे हैं क्या वो सही है?

अगर हाँ  तो बिना डरे उसे करने का डिसीजन लीजिए।

याद रखिए किसी भी व्यक्ति ने बिना आलोचना के कोई महत्वपूर्ण काम नहीं किया।

#2:- Put only positive thoughts in your mind.

“सकारात्मक विचार ऊर्जा बढ़ते हैं।      
 नकारात्मक विचार ऊर्जा घटाते हैं।”- BrianTracy


मन एक बगीचे की तरह है!

इसमें जैसे बीज बोयेगें, यह वैसे ही फल देगा।

दिमाग में आने वाला कोई विचार अपने जैसे कई और विचारों को साथ लाता है।

माना कि आप डर के किसी विचार को अपने मन ने आने देते हैं तो यह डर के कई विचारों को अपने साथ लाएगा।

इसलिए केवल सकारात्मक विचार ही अपने दिमाग में आने दें।

पुरानी बुरी यादों को भूल जाएं, वे अबअआपके काम की नहीं रहीं।  

केवल अच्छी और सकरात्मक यादें ही अपने मन में रखें।

“नकारात्मक विचारों को अपने दिमाग से उसी तरह दूर रखें जिस तरह आप खाने से ज़हर को दूर रखते हैं।”-Napoleon Hill


Confident people


#3:- Sorround Yourself with Confident People.


“आप उन पांच लोगों का औसत हैं जिनके साथ आप  अपना ज्यादातर समय बिताते हैं।”

अगर आप डरे हुए लोगों के साथ समय बिता रहे हैं तो आप भी जल्द ही उनकी तरह बन जाएंगे।

क्योंकि डर संक्रामक होता है! यह दूसरे लोगों से आपमें भी पैदा होने लगता है।


अगर आप सचमुच कांफिडेंट रहना चाहते हैं तो उन लोगों को ढूंढिए जो पॉजिटिव और आत्मविश्वासी हों, उनके साथ अपना ज़्यादातर समय बिताइए।

क्या आपने इस बात को नोटिस किया है?

आत्मविश्वासी लोगों के बीच आने पर आप भी आत्मविश्वासी महसूस करते हैं!


आपको अच्छा महसूस (feel) होता है। उस समय डर जैसी किसी चीज़ को आप नहीं जानते।


तो फिर शुरू हो जाईये अपने डर को हराने के लिए।



“सफल लोगों के बीच रहने के लिए जो कीमत चुकानी हो, चुकायें।”- Mike Murdock

 Summarised:- 





आपको कौन सा पॉइंट सबसे अच्छा लगा?


क्या आपके कुछ और सवाल है?

कमेंट सेक्शन में ज़रूर बताएं!


क्या आपका कोई प्रिय मित्र अपने डर को नहीं जीत पा रहा।

उसको यह आर्टिकल जरूर शेयर कीजिए।

कहते हैं (Sharing is caring).

Comments

Post a Comment